Blog‎ > ‎

Baroda Ki Masti

posted 20 Nov 2011, 07:02 by olnf Admin   [ updated 21 Dec 2011, 21:53 by Sudeep Jaiswal ]

Author: Suparas Singhi


For the first time that I am posting two post in one day within an hour . So enjoys this poem too...


New friends in Baroda :


Priya Mali (MET, Mumbai) , Sudhan Shrivastav (BIMTECH, Gurgaon), Abhijeet Mitra (BIMHRD, Pune), Priyanka Bamonia (BIMM, Pune), Kirti Birla (BIMM, Pune), Jaya Shukla(BIIB, Pune), Neha Shah(BIIB, Pune).



बरोडा की मस्ती


नौकरी की राह पर निकला,
पुणे से बरोडा मैं गया,
इंटरव्यू दे, तत्काल से तत्काल,
कंपनी जौइन किया,
सुबह से लेकर शाम,
आग और पानी बिमा पचाया,
खाने की जगह, इनसे लोगो का पेट गडबडाया,
दुर्घटना, चोरी, स्वास्थय बिमा की,
शर्त पे शर्त , शर्त में शर्त,
पढ़ दिमाग चकराया,
पर मौज मस्ती कभी ना हुई कम,
प्रिया का ठहाके मार , बतिशी दिखाके हसना,
शुधन का पा पा बनना,
प्रियंका का सचिन जप करना,
अभिजीत का कक्षा में सोना,
जया की नौटंकी, नेहा और कीर्ति का रहना शांत,
हर हफ्ते की, कमाई उड़ना,
शुक्रबार को सिनेमा जाना,
उत्तर के बदले, भजिया खिलाना,
सिन्हा सर का प्यार से समझाना,
सबकी, शौपिंग पे शौपिंग,
३० दिन की ये बरोदा की जिंदगी,
अब तशवीरो में है उत्तर आई,
आ गया है वो वक़्त,
जब चल पड़ेगे फिर से हम,
अपनी अपनी राह पर,
यादो में समेट कर रखेगे ,
बरोडा की मस्ती भरे दिन ॥

Thank you for going through the poem. I hope it meets your expectations...

Comments